Word spoken in anger, can leave wound that never heel

गुस्सा करने से, भला नहीं होता...

एक लड़के को बहुत गुस्सा आता था। उसके पिता ने उसे कीलों का एक Bag देते हुए कहा कि, “जब भी तुझे गुस्सा आए तो इसमें से एक-एक कील लेकर घर के पीछे जो Wooden Boundary है उसमें जाकर एक कील ठोक देना।

वो लड़का पिता की बात मान जाता है और अगले दिन जब उसे गुस्सा आता है तो वह एक कील लकड़ी पर ठोक देता है। पहले दिन 22 कीलें ठोकता है। दूसरे दिन 18 कीलें इसी तरह वो धीरे-धीरे समझ जाता है कि, गुस्सा Control करना ज्यादा आसान है कील ठोंकने से। Finally एक दिन आता है, उस लड़के को गुस्सा नहीं आता और कील ठोकना भी बंद हो जाता है।

वो इस बात को अपने Father को बताता है कि, अब मुझे गुस्सा नहीं आता। उसके Father कहते है ठीक है अब से जब भी तू गुस्सा Control करे तो उसी लकड़ी में जाकर एक कील निकाल देना। वो वैसा ही करता है। अब धीरे-धीरे वो गुस्सा Control करने पर एक कील निकाल देता है। ऐसा करते-करते वो एक दिन अपने Father को बताता है कि, सारे कील निकल गए।

Father बेटे को Well Done कहता है और हाथ पकड़ के उसी Wooden Boundary के पास ले जाता है। वहाँ अपने बेटे से कहते हैं, “तुमने कील तो निकाल लिए पर कील लगने की वजह से अब वो लकड़ी पहले जैसी नहीं रही। ठीक इसी तरह से हम अपनी Life में भी Mistakes कर जाते हैं जिसकी वजह से चीजें पहले जैसे नहीं रहती।

ये तो एक कहानी थी पर हम Real Life में भी हम गुस्से में कुछ ऐसा बोल जाते हैं जो हमें नहीं बोलना चाहिए था। गुस्से के कारण किसी को दुःख पहुँचा कर बाद में हम कितना भी Regret कर लें, कितनी भी माफी मांग लें, वो जख्मों के निशान हमेशा रह ही जाते हैं और हमारे रिश्तों को कमजोर करते जाते हैं। गुस्सा किसी भी समस्या का हल नहीं है, गुस्से के कारण किसी का आज तक भला नहीं हुआ।

Word spoken in anger, can leave wound that never heel...

अगर आपके पास भी Subsidy से जुड़े कुछ विचार हों तो अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें। लेख अच्छा लगने पर Share करें जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ भन्नाट.कॉम पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप wordparking@gmail.com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें Twitter@Bhannaat

Previous
Next Post »
loading...