Rs. 500 and 1000 Banned

500 And 1000 Rs Banned

Rs. 1,000 and 500 and   Banned in India...

500 और 1,000 रुपयों के नोट प्रचलन में नहीं रहेंगे...

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को सम्बोधित करते हुए यह कहा है कि, ५०० और १००० रुपयों के नोट पूरे देश में प्रचलित नहीं होंगी। भ्रष्टाचार के खिलाफ यह एक बेहद महत्वपूर्ण कदम है।

आइये जानते हैं कि, प्रधानमंत्री मोदी ने इस सम्बोधन में और क्या जानकारियाँ दी हैं...
1. ८ नवम्बर की मध्यरात्रि से देश में ५०० और १००० रुपयों की नोटों का प्रचलन नहीं कर सकते। 
2. अगर आपके पास ५०० और १००० रुपयों के नोट हैं तो वह आप बैंको में और डाक घरों में ३० दिसंबर २०१६ तक जमा कर दें। आपने जमा किए हुए यह पैसे आपके बैंक खाते में जमा हो जाएँगे। जमा करते वक्त आपको आपका पहचान पत्र जैसे आधार कार्ड, इलेक्शन कार्ड दिखाना अनिवार्य है। 
3. ATM machines ९ नवम्बर और कुछ जगहों पर १० नवम्बर को बंद रहेंगी।
4. आपातकालीन समय के लिए ५०० और १००० रुपयों के नोट सरकारी अस्पतालों में ११ नवम्बर की मध्यरात्रि तक आप इस्तेमाल कर सकते हैं।
5. पेट्रोल पंप और बाकि रिटेल दुकानों में ११ नवम्बर तक इन ५०० और १००० रुपयों की नोटों का प्रचलन हो सकता हैं। पर ऐसा करने पर उन्हें हर एक प्रचलन का मूल्यांकन अपने पास लिख कर रखना होगा।
6. मसान और कब्रिस्तानों में भी ५०० और १००० रुपयों के नोट ११ नवम्बर तक ही इस्तेमाल कर सकते हैं।
7. इलेक्ट्रॉनिक साधन जैसे चेक, डिमांड ड्राफ्ट, क्रेडिट / डेबिट कार्ड या अन्य साधनों से खरीद फ़रोख करने में कोई बदलाव नहीं हैं। यह प्रचलन जैसा चलता था वैसा ही शुरू रहेगा।
8. ५०० और १००० रुपयों के नोट आप ३० नवम्बर २०१६ तक बैंकों और डाक घरों में जमा कर सकते हैं। पर कुछ कारणवश आप यह ३० दिसम्बर तक जमा नहीं कर पाए तो आपको ३१ मार्च २०१७ तक यह करने की अवधि दी जाती है। ऐसा करने के लिए आपको आपका पहचान पत्र दिखाना अनिवार्य है।
9. १० नवम्बर २०१६ से २,००० और ५०० रुपयों के नए नोट बाजार में प्रचलित होंगे।
10. पुराने 1, 2, 5, 10, 100रुपयों के नोट और सिक्के प्रचलन में जैसे शुरू थे वैसे ही शुरु रहेंगे।
11. 500 और 2000 रुपयों के नए नोटों के अलावा बाकी नए नोट सरकार और RBI कुछ अवधि के बाद देश में प्रचलन में शामिल करेंगे।
12. यह बड़ा फैसला काले धन, आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए उठाया गया है।
13. ५०० और २००० रुपयों के नई नोटों में ब्रैल सिस्टम का भी प्रयोग किया गया है जिसके कारण अंधे लोगों को पैसो का लेन-देन करते कोई दिक्कत न हो।
लेख अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ भन्नाट.कॉम पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप wordparking@gmail.com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें Twitter@Bhannaat
!!!धन्यवाद!!!
Previous
Next Post »