An important messages to every Indian


A Very Important messages to every Indian...

नमस्ते Friends, आशा करता हूँ कि, आप सब ने भी Diwali अच्छी तरह से मनाई होगी। पिछले कुछ दिनों से बहुत Busy था जिस वजह से ज्यादा कुछ लिख नहीं पाया लेकिन आज मैं आप सब से एक Special Topic पर बात करना चाहता हूँ। Friends मैंने इस Diwali पर कुछ नया किया है जो आज मैं आप से Share करना चाहता हूँ। 

Crackers मतलब पटाखे तो मैं फोड़ता ही नहीं और इस दीवाली मैंने अपने घर पर Chinese Lights का Use बिल्कुल भी नहीं किया और केवल मिट्टी के दिये ही जलाए शायद मेरे दिल में वो एक Sentence घर कर गया कि, दिवाली की Shopping उस व्यक्ति से करो जो आपके द्वारा की गई Shopping से अपने घर पर दीवाली मना सके। बस इसलिए सोचा कि, इस बार कुछ Different कर के देखते हैं यकीन मानिए दिल से अच्छा लगा।

मैं नहीं जनता कि, आपने ऐसा किया या नहीं लेकिन लगभग 90% लोगों ने अपने घरों को Chinese Lights का Use किया था मेरी उन लोगों से Humble Request है कि, आप सब भी Chinese Lights का Use न करें उस से Better है कि, आप मिट्टी के बने हुए दीपों का Use करें।

मेरे मना करने के पीछे एक बहुत बड़ा Reason है... जब आप कोई भी Chinese Product लेते हैं और जो पैसा आप देते हैं वो पैसा चीन जाता है और Chinese Currency (Yen) को मजबूत करता है और Indian Rupees (₹) को कमजोर करता है जिस से India में महँगाई बढ़ती है, Unemployment बढ़ता है, गरीब और गरीब होता जाता है और अमीर और भी अमीर होता जाता है। 
जो भी स्वदेशी की बात कर रहे हैं वो अपनी सुविधाओं के लिए विदेशी वस्तुओं का ही उपयोग कर रहे हैं एवं जनता से कह रहे हैं कि, स्वदेशी अपनाओ।
ये बात सिर्फ यहाँ खतम नहीं होती, ये जो बड़ी-बड़ी Companies, TV Channel और Brand जैसे Dainik Bhaskar, Zee News, NDTV आदि भी दिन भर Chinese Products का बहिष्कार (Boycott) करने की Ad दिखाते रहते हैं परन्तु ये खुद भी उन्हीं Chinese Companies के Products का Use करते हैं। बड़े लोग जैसे रामदेव बाबा भी अपने लिए लाखों की गाड़ियाँ उपयोग करते हैं आप इस Post की Picture में भी देख सकते हैं। केवल मैं ही नहीं बल्कि भारत की Government भी यही Message सबको दे रही है कि, स्वदेशी अपनाओ। फिर भी Chinese Mobile के Ads T.V. पर, News Paper पर Show होते हैं क्योंकि कहना तो आसान है लेकिन उसे Implement करना बहुत मुश्किल। 

एक तरफ तो स्वदेशी अपनाओ का नारा लगा रहे हैं और दूसरी ओर Chinese Companies के Products को भारत में Business करने की Permission भी दे रहे हैं और Chinese Product की Ads से भी पैसा वसूल रहे हैं। 
भारत में शुरु होने वाले कई projects को बनाने के ऑर्डर Chinese कम्पनीज को दिए जा चुके हैं 


अगर हम भारतीय संकल्प ले लें कि, Chinese Product Use नहीं करना है तो भारत का पैसा Strong हो जाएगा और जो चीज आज ₹ 10 की है वह ₹ 2 की मिल सकती है इसमें Profit अपना ही है और समझने वालों के लिए इशारा ही काफी है। आशा करता हूँ कि, आप सब को ये बात जरूर समझ आ गई होगी और आप सब भी Chinese Product को No कहेंगे।

लेख अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ भन्नाट.कॉम पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप wordparking@gmail.com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें Twitter@Bhannaat
!!!धन्यवाद!!!

Previous
Next Post »

2 comments

Write comments
HindIndia
AUTHOR
December 19, 2016 at 5:18 PM delete

बहुत ही उम्दा .... sundar lekh .... Thanks for sharing this nice article!! :) :)

Reply
avatar
loading...