Stephen Hawkins The Man Who Defeated Death In Hindi


Stephen Hawkins The Man Who Defeated Death : The Autobiography



स्टाफिन हव्किंस, जिसने मौत को मात दी: एक जीवनी





मैं अभी और जीना चाहता हूँ, मुझे मौत से डर नहीं लगता लेकिन मुझे मरने कि भी कोई जल्दी नहीं है ये शब्द हैं stephen hawkins के जिनके बारे में बहुत से लोग जानते भी होंगे वे एक बहुत ही बुद्धिमान व्यक्ति हैं उन्होंने universe and the brief history of time नामक एक book भी लिखी थी जो बहुत famous हुई थी



Early Life and Education




stephen hawkins का जन्म 8 january 1942 में हुआ था और इनकी age आज 75 है, stephen hawking और महान वैज्ञानिक Galileo की birth date एक ही है. Hawkins ने अपनी schooling Byron House School Highgate, London से की

बचपन से ही hawkins बहुत बुद्धिमान थे उनके friends और बहुत से लोग उन्हें Einstein कह कर पुकारते थे, इनको उनके पिता frank ने गोद लिया था जिनकी 2 बेटियाँ थी और hawkins दोनों से बड़े थे उनके पिता एक डॉक्टर थे और माँ एक housewife. जब hawkins पैदा होने वाले थे उनका परिवार लन्दन में था लेकिन 2nd world war के कारण उनका परिवार oxford में आ कर रहने लगा बचपन से ही steafen गणित यानी maths में तेज़ थे लेकिन उनके पिता उन्हें एक डॉक्टर बनाना चाहते थे लेकिन उस समय उन्हें university में maths subject नहीं मिल पाया और उन्होंने अपनी आगे की पढाई physics भौतिकी से शुरु की


लेकिन आगे चल कर Indian scientist जयंत नार्लीकर की सलाह के अनुसार उन्होंने maths को ध्यान में रख कर cosmology subject चुन लिया. oxford university से उन्होंने P.Hd complete की और अपनी आगे की पढ़ाई शुरू की.



Fatal Disease: Neuron motor





जब वे 21 साल के हुए एक दिन वे छुट्टी मनाने अपने घर आए हुए थे और वे अपने घर की सीढ़ियों से उतर रहे थे तभी अचानक उन्हें बेहोशी का एहसास हुआ और वे तुरंत ही सीढ़ियों से नीचे गिर पड़े. डॉक्टर के पास जाने के बाद उन्हें पता चला कि, वे एक अनजान और कभी न ठीक होने वाली बीमारी से ग्रस्त हैं जिनका नाम है Neuron motor disease. इस बीमारी में धीरे-धीरे शरीर के सभी अंग काम करना बंद कर देते हैं और अंत में स्वाशनली (Respiratory organ) भी काम करना बंद कर देती है जिस से मरीज की जान घुट-घुट कर निकल जाती है


doctors ने treatment के बाद कहा कि hawkins केवल 2 साल के मेहमान है और इस से ज्यादा वे नहीं जी सकते लेकिन hawkins ने अपनी इच्छा शक्ति पर पूरी पकड़ बना रखी थी और उसी समय उन्होंने कहा कि, मैं केवल 2 ही नहीं, 10 ही नहीं बल्कि 50 सालों तक जी कर दिखाऊँगा उस दिन के बाद आज दुनिया जानती है कि hawkins आज 75 साल के हो गए है और मौत आज भी उनसे जीत नहीं पाई अपनी इसी बीमारी के बीच में ही उन्होंने अपनी P.hd पूरी की और अपनी प्रेमिका से विवाह भी किया तब तक hawkins का पूरा left part ख़राब हो चुका था और वे stick के सहारे चलते थे


Science And Career:





अब hawkins ने अपने वैज्ञानिक जीवन का सफ़र शुरू कर दिया था और अब वे धीरे-धीरे world में famous भी होने लगे थे लेकिन दूसरी और उनका शरीर भी धीरे-धीरे उनका साथ छोड़ता जा रहा था और कुछ ही समय बाद उनका बायाँ हिस्सा भी बंद हो गया लेकिन उन्होंने इन सब चीजों पर ध्यान न देकर अपनी विज्ञान की दुनिया में ही ध्यान दिया. बीमारी बढ़ने पर उन्हें wheel chair की जरुरत हुई और उन्हें वह भी मिल गई और उनकी ये chair advance technology से full थी

लोग देखते रहे और hawkins मौत को चकमा देते रहे उनकी इच्छा शक्ति ने मानो उन्हें मृत्युंजय (immortal) ही बना दिया हो. इसी बीच hawkins 3 बच्चों के पिता भी बने उन्हें देख कर यही कहा जा सकता है कि, hawkins सिर्फ शारीरिक रूप से ही अपंग थे न कि, मानसिक रूप से उन्होंने अपनी बीमारी को एक वरदान के रूप में लिया वे अपने मार्ग पर आगे चलते चले गए और दुनिया को दिखाते चले गए कि, उनकी इच्छा शक्ति और उनकी बुद्धिमत्ता कम नहीं आँकी जा सकती

फिर उन्होंने black hole concept दुनिया को दिया, साथ ही साथ hawkins ने ये भी कहा कि, समय यात्रा सम्भव है लेकिन यह अभी present technology के हिसाब से practically सम्भव नहीं है, उनकी लिखी गई किताब A brief history of time ने दुनिया भर में विज्ञान जगत में तहलका मचा दिया सन 1995 में उनकी पत्नी jene wile ने उन्हें divorce दे दिया और उनकी दूसरी शादी ilina messin हुई और जिन्होंने उन्हें 2006 में तलाक दिया उनकी पहली पत्नी jene से तलाक का कारण था कि, वह एक धार्मिक स्त्री थी और hawkins हमेशा से भगवान् के अस्तित्व को चुनौती देते थे जिसके कारण दुनिया भर में hawkins की काफी आलोचना भी हुई

लेकिन इन सब से दूर hawkins अपनी खोजों पर आगे बढ़ते गए और दुनिया को बता दिया अपंगता तन से होती है मन से नहीं, Einstein का iq 142 था लेकिन hawkins का IQ 160 है जो कि, किसी भी genius से काफी ज्यादा है 2007 में उन्होंने अंतरिक्ष की सैर भी की जिसमें वह physically fit पाए गए. आज उन्हें physics में उन्हें छोटे-बड़े 12 awards मिल चुके हैं आज भी वे अपनी इच्छाशक्ति के दम पर जी रहे हैं और हमारी यही दुआ है कि वह ऐसे ही जीते रहेंगे और नई-नई खोज करते रहेंगे




Example:




आज विज्ञान भी इस बात को मानता है कि, इच्छा शक्ति से हमारा शरीर भी operate होता है अगर हमारी तीव्र इच्छा शक्ति है और हम किसी चीज़ को ठान लें तो हमारा शरीर भी उसी के according काम करने लगता है जिसका एक example India में ही है आपने vivek anand का नाम तो सुना ही होगा उनके गुरु का नाम था राम कृष्ण परम हंस राम कृष्ण परमहंस ने विज्ञान जगत को चुनौती दी थी वो काली जी की पूजा करते थे वे भक्ति में इतने लीन हो गए थे कि, उन्होंने ये मान लिया था कि, वे स्त्री हैं और उनका शरीर भी उनकी इच्छा के अनुसार काम करने लगा था और वे स्त्री बनने लगे थे जिसमें चौंकने वाली बात यह है कि, उनके स्त्री की तरह स्तन भी उभर आए थे. विज्ञान इस biological change को आज तक नहीं सुलझा सका ऐसे ही और भी बहुत सारे example आपको दुनिया में देखने को मिल जाएँगे जिस से मौत को मात दी और हम सबको सिखाया कि, कुछ भी हो सकता है



लेख अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ भन्नाट.कॉम पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें Twitter@Bhannaat.



।।।धन्यवाद।।।



Previous
Next Post »
loading...