How To Become Genius Like Leonardo Da Vinci In Hindi


How To Become Genius Like Leonardo Da Vinci In Hindi
लेओनार्दो द विन्ची जैसा कैसे सोचे:





Namaste friends,

मैंने पहले भी Mind की Capacity बढ़ाने पर एक Article लिखा था ये भी उसी विषय पर है अगर आपने वह Article नहीं पढ़ा हो तो आप पहले वो Article यहाँ Click कर के पढ़ सकते हैं उस के बाद ये Article आपको और भी अच्छी तरह से समझ आएगा।

Leonardo Da Vinci का नाम आप सब ने सुना ही होगा। इनका जन्म Italy में 15 अप्रैल 1452 में तथा मृत्यु 2 May 1519 में हुई। वे आज भी इतने Famous क्यों है ये बात हम में से ज्यादातर को नहीं पता होगी मुझे भी नहीं पता थी इसलिए में पहले आप लोगों को बता देना चाहता हूँ कि, लेओनार्दो द विन्ची को आज तक के Greatest लोगों में से एक माना जाता है। लोग आज भी उन्हें One Of थे Finest Genius बोलते हैं।

लेओनार्दो द विन्ची एक Painter (चित्रकार), Sculptor (मूर्तिकार), Architect (वास्तुकार), Scientists (वैज्ञानिक), Mathematician (गणितज्ञ), Engineer और एक Writer (लेखक) भी थे अभी भी कम लग रहा है, वे और भी दूसरी Fields में बहुत Intelligent थे जैसे की Human Anatomy (शारीरिक संरचना), Zoology, Literature, Botany, Astronomy (खगोलस्त्र), Cartography (मानचित्र अध्ययन) और History (इतिहास)। मतलब आज जितने Subject एक कॉलेज में नहीं पढ़ाए जाते वे उस Time पर इन सब Subject में मास्टर थे और तब तो इन्टरनेट भी नहीं था और इनफार्मेशन मिलना बहुत Challenging चीज़ थी। इतना ही नहीं उन्हें बहुत से लोग Father Of Architecture भी कहते हैं अगर उनके Core Talent की बात करें तो वे आज तक के सबसे बेस्ट Painters में से एक है जिनकी Painting Monalisa को दुनिया की सबसे Famous Painting माना जाता है और The Last Supper नाम की उनकी Painting सबसे ज्यादा बार Recreate की गई Painting है। Inventions की बात करें तो उन्हें Parachute, Helicopter, Tank, Expendable Ladder और ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिन्हें बहुत सी चीजों के लिए क्रेडिट दिया जाता है। Overall कहूँ तो वे Ambidextrous थे मतलब कि, वे दोनों हाथों से लिख सकते थे।

अब ये सब मैं आपको क्यों बता रहा हूँ क्योंकि आज में आप को जिस Book की Summery देने वाला हूँ उनका नाम है Think Like Da Vinci जो सच में एक कमाल की Book है। इस Book से आप अपनी Intelligence और Brain Power बढ़ा सकते हैं और मेरे हिसाब से ये Book आप सब को एक बार तो जरूर पढ़नी चाहिए। चलो तो बिना रुके Start करते हैं आज कि Summery...

लेओनार्दो द विन्ची 4 ऐसे Principal Follow करते थे जिसकी वजह से वे इतने बड़े Genius बन पाए थे जो अगर हम भी Follow करेंगे तो उनकी तरह तो नहीं लेकिन हम एक Genius जरूर बन सकते हैं। तो अभी मैं आपके साथ वही Principal Share करने जा रहा हूँ। द विन्ची Italian थे इसलिए इस Book के Author ने उन्हें Italian Principal नाम दिया है जैसे द विन्ची बोलते थे।

1. Curiosita मतलब Curiosity

Author कहते हैं कि, द विन्ची से ज्यादा Curious व्यक्ति शायद ही कभी कोई हुआ होगा वे हद से ज्यादा Curious इंसान थे जिन्हें हर चीज़ के बारे में जानना था। वे सब कुछ जानना चाहते थे वे हमेशा किसी भी चीज़ को जानने के लिए Ready रहते थे। नई-नई चीज़े सीखने के लिए और यही मुख्य Reason था जिसकी वजह से वे इतना कुछ Invent और Achieve कर पाए।

इसे एक Example से समझो आज अगर कोई सबसे बड़ा Hacker होगा तो उसका Interest Hacking में जरूर रहा होगा उसने उसके बारे में इन्टरनेट पर बहुत से Articles और Books भी पढ़ी होंगी और बहुत कुछ Practical कर के भी देखा होगा इसलिए वही इंसान आज Hacking Genius होगा न कि, वो इंसान जिसे साल में बस एक बार Hacking सीखने का जोश आया था और बस फिर दूसरे दिन चला भी गया था। किसी भी Field को लेकर जितनी ज्यादा Curiosity होगी आपके अन्दर उतना ज्यादा Chances में कि, आप उस Field में मास्टर बन पाओगे। इसलिए जितना हो सके Question पूछो अपने आप से, आप के दिमाग में जितने भी Thoughts आते हैं आपके दिमाग में उन्हें कहीं लिख कर रख लो और उन सब Questions के Answer Find Out करो। एक Journel या Notebook Maintain करो जिसमे आप रोज़ लिख सको क्योंकि जितने भी Genius इस दुनिया में आये है वे सब अपने अपने Special Notes बना कर रखते थे जिसमे वे अपनी सीखी गई बातें लिखते थे जैसे कि, थॉट्स Ideas, Plans जो उनके Goals Achieve करने में उनकी Help करते थे। Da Vinci ने भी ऐसी बहुत सी Books Maintain की हुई थी और ये चीज़ मैं भी Follow करता हूँ और आप को भी ऐसा करना चाहिए इस से आपका CURIOSITY Level बहुत बढ़ जाएगा।

2. Demostrazion मतलब Demonstration:

Da Vonci जब भी कोई बात सीखते थे तो वे उसे केवल पढ़ कर भूल नहीं जाते थे बल्कि वो उसे जल्द से जल्द खुद Test करने लगते थे उस चीज़ पर Experience करने लगते थे Actions ले कर, Example से समझते हैं, अभी पिछले Point में मैंने बताया कि, अपने Notes खुद बनाना अच्छी आदत है ये आपको अपने Goal Achieve करने में Help करेंगी लेकिन आप में से बहुत ही कम लोग होंगे जो ऐसा करना Start करेंगे। सच बात तो यह है कि, बहुत ही कम लोग Genius बनने की Capability रखते हैं। Simple Words में समझें तो Practical Experience Theory से बहुत ज्यादा Beneficial होता है और जो इंसान ज्यादा Practically चीजें करेगा वही इंसान बहुत बड़ा Genius भी बनेगा। कोई आपको कितने भी अच्छे तरीके से Communication Skills को सिखा दे लेकिन जब तक आप खुद अपने आप उस चीज़ को Practically नहीं करोगे तो आपकी Communication Skill कभी भी अच्छी नहीं हो पाएगी।

3. Sensazione मतलब Sensations:

Da विन्ची अपने पाँचों Senses का बहुत अच्छी तरह और Maximum Use करते थे। Example देखिए अगर वो किसी पेड़ को देखते थे तो वो Normal पेड़ जैसे नहीं देखते थे जैसे कि उस में फूल हैं, पत्ते हैं, और फल हैं ऐसे बिलकुल नहीं बल्कि वे उसे एक दम ध्यान से देखते थे कि, कैसे उस पेड़ की मोटी-मोटी जड़ें हैं जिसके दम पे इतना भारी पेड़ खड़ा है। कैसा Interesting उस पेड़ का Shape है? उस की Branches हैं और उस में से और कई Branches निकली हैं, उस में पत्तो का कलर भी एक जैसा नहीं है और कुछ Branches के End में कुछ Flowers भी निकले हैं और ये सब कितना सुन्दर है। मतलब वो चीज़ों को एक दम Details में देखते थे। यही Reason है जिसकी वजह से वो चीज़ों को इतने अच्छे तरीके से समझ पाते थे इसलिए आप भी अपने Senses का एकदम अच्छे से उसे करो जैसे आप अगर कुछ सुन रहे हो तो उसे धान से सुनो और लम्बे समय तक याद रखने की कोशिश करो, Music सुन रहे हो तो उस के Pattern को ध्यान से सुनो और समझो, जब कोई चीज़ पकड़ रखे हो तो उसे अच्छे से Feel करो, साँस ले रहे हो तो एकदम स्मेल को महसूस करो। चीज़ों को बस पेट भरने के लिए मत खाओ, बल्कि उसे Taste करो और अलग अलग स्वाद को Identify करो, उस का मज़ा लो। इन सब चीज़ों को लोग Modern Term में Mindfullness भी कहते हैं। इसलिए जितना हो सके उतना ज्यादा Level पर अपने Senses का उसे करो।

4. Sfumato मतलब Comfort With Paradox:

ये Principal बहुत अच्छा है इसे आप बड़े ध्यान से समझना। इसे एक Example से समझाता हूँ माल लो, मैं किसी आदमी को बोलता हूँ कि, किसी इंसान को जान से मरना एक गलत बात है और ऐसा करना गलत है और दूसरी तरफ मैं एक ऐसे इंसान से मिलता हूँ उस उस को बोलता हूँ कि एक इंसान कि जान लेना सही है और ऐसा करना चाहिए। अब अगर मेरी दोनों बातों को कोई तीसरा आदमी जो Normal Mentality वाला हो और मुझे सुन रहा होगा तो वो मुझे उसी Time Judge करने लगेगा और सोचेगा कि, ये बाँदा तो बहुत ही गलत बात करता है और दो बातें करता है, लेकिन अगर वो इंसान अगर कोई Genius Mentality वाला होता तो वो मुझे तुरंत Judge नहीं करता और वो दोनों बातों को समझने की कोशिश करता और फिर भी उस को समझ नहीं आता तो वो मुझसे पूछता कि, मैंने ऐसा क्यों बोला? तो उसे पता चलता कि, पहले मैं जिस आदमी से बात कर रहा था वो एक Criminal Type का इंसान था जो शायद Future में आम लोगों को मार सकता है, जबकि दूसरी तरफ दूसरा इंसान Soldier था, जिस से मैं ये Discuss कर रहा था कि, Terrorists, Criminals, Rapist और Murderers होते है उसे जान से मार देने की सजा ही सही मिसाल हो सकती है ऐसी Mentality वाले लोगों के लिए। तो फिर उस इंसान को समझ आ पाता कि, मैं भले ही एक दम Opposite चीजें बोल रहा था लेकिन दोनों बातें अपनी जगह सही भी थी जो एक Normal Mentality वाला इंसान नहीं समझ पाया।

Genius लोग दो opposite जैसी लग रही बातों को भी समझने की कोशिश करते हैं और एकदम Decision नहीं लेते बल्कि उस पर सोच समझ कर Decision लेते हैं।




लेख अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ भन्नाट.कॉम पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें
धन्यवाद !!


Previous
Next Post »