MBA management Story of Dog and Lion in Hindi

MBA management Story of Dog and Lion in Hindi...




एक दिन एक कुत्ता जंगल की ओर जा रहा था लेकिन थोड़ी देर वह रास्ता खो गया...
तभी उसने देखा, एक शेर उसकी तरफ आ रहा है...

कुत्ते की तो जैसे साँस ही रुक गई... उसको लगा कि, "आज तो काम तमाम मेरा..!" 



फिर अचानक उसको MBA का एक lesson याद आ गया...

उसको अपने सामने कुछ सूखी हड्डियाँ पड़ी हुई दिखाई दीं...

अब वो अपनी ओर आते हुए शेर की तरफ पीठ कर के बैठ गया और एक सूखी हड्डी को उठाकर चूसते हुए जोर-जोर से बोलने लगा,



"वाह! जंगल के शेर को खाने का मज़ा ही कुछ और है... 

अगर एक शेर और मिल जाए तो आज की दावत पूरी हो जाएगी!" इसके साथ ही उसने जोर से डकार मारा... इस बार शेर सोच में पड़ गया...



उसने सोचा- "ये कुत्ता तो शेर का शिकार भी करता है, जान बचा कर भागो यहाँ से नहीं तो अपनी भी ऐसी-तैसी हो जाएगी"

और शेर वहाँ से जान बचा के भागने लगा...

पेड़ पर बैठा एक बन्दर यह सब तमाशा देख रहा था...

इस स्थिति में उसने सोचा कि, यह एक अच्छा मौका है, मैं जाकर शेर को सारी कहानी बता देता हूँ... इससे शेर से मेरी दोस्ती हो जाएगी और उससे ज़िन्दगी भर के लिए अपनी जान जाने का खतरा दूर हो जाएगा...

वो फटाफट शेर के पीछे भागा...

कुत्ते ने बन्दर को जाते हुए देख लिया और समझ गया कि, कोई लोचा है...



उधर बन्दर ने शेर को सब बता दिया कि, कैसे कुत्ते ने उसे बेवकूफ बनाया है...?

शेर जोर से दहाड़ा,- "चल मेरे साथ, अभी उसकी लीला ख़तम करता हूँ"... और बन्दर को अपनी पीठ पर बैठा कर शेर कुत्ते की तरफ लपका...

Can you imagine the quick "management" by the DOG...???



कुत्ते ने शेर को आते देखा तो एक बार को उसके आगे जान का संकट आ गया मगर फिर हिम्मत करके कुत्ता उसकी तरफ पीठ करके बैठ गयाl

Another lesson of MBA applied और जोर-जोर से बोलने लगा,-

"इस बन्दर को भेजे 1 घंटा हो गया... ये एक शेर को फँसा कर नहीं ला सका अभी तक!"



यह सुनते ही शेर ने बंदर को पटका और वापस भाग गया।

Be a Smart Worker rather than a Hard Worker...

लेख अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ भन्नाट.कॉम पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें





धन्यवाद !!


Previous
Next Post »

1 comments:

Write comments
HindIndia
AUTHOR
September 3, 2017 at 1:25 PM delete

बहुत ही उम्दा .... nice article .... ऐसे ही लिखते रहिये और लोगों का मार्गदर्शन करते रहिये। :) :)

Reply
avatar