Why students are not studying in Hindi?

Why students are losing their ability to study?

विद्यार्थियों में पढ़ाई करने की क्षमता क्यों कम हो रही है?





इस information के दौर में भी ऐसे बहुत से विद्यार्थी हैं जो अपनी पढ़ाई करने की क्षमता खो रहे हैं। तो आईए जानते हैं कि, उसके पीछे कौन से बड़े कारण हो सकते हैं।


 Students are losing their interest in studies:
 विद्यार्थियों में पढ़ाई करने की रुचि कम हो रही हैं:


जो विषय स्कूल में या कॉलेज में पढ़ाए जाते हैं उनको समझने में विद्यार्थियों को ज्यादा मुश्किलें नहीं आती हैं, पर उन विषयों का अभ्यास करके, उन् विषयों को समझने के बाद उनका उपयोग कहाँ और कैसे करें और उन विषयों का अभ्यास अपने स्मरण शक्ति में कैसे memorize करे? यह एक मुख्य समस्या है।

पर अगर एक बार वह विद्यार्थी उस knowledge का practically इस्तेमाल करना शुरु करें तो फिर वह knowledge उस विद्यार्थी के memory में दीर्घकाल तक store रहेगा और उस knowledge का उपयोग करके पढ़ाई करना उसके लिए एक खेल बन जाएगा और खेल-खेल में उस विद्यार्थी का ध्यान एवं मन पूरी तरह टिका रहेगा जिसके कारण उसकी पढ़ाई करने में रुचि धीरे-धीरे बढ़ती रहेगी।



Students are addicted to Mobile, Laptop, Internet and Social media
Mobile, Laptop, Internet और Social media की लत लगना।



Mobile, Laptop, Internet और Social media की लत लगना तो एक आम बात है, पर क्या हमें यह पता है कि, एक विद्यार्थी के 6-10 घंटे सिर्फ इन्हीं चीजों के अति इस्तेमाल करने में जाते हैं। एक गम्भीर बात तो यह है कि, बहुत से विद्यार्थियों को यह बात पता होने के बावजूद भी ज्यादा तर विद्यार्थी इस बात की गम्भीरता को नजर अंदाज कर देते हैं और अपने mobile द्वारा अपने दोस्तों की मजाक उड़ाते रहना, boyfriend या girlfriend के साथ घंटों तक बात करते रहना, social media पर अपने फोटो पर like और comments की चिंता में रहना और internet पे ज्यादा तर वक्त अश्लील फिल्मों को देखने में गँवा देते हैं। यह सब चीजें उनके लिए fashion सी बन गई है। मेरा कहना यह नहीं हैं कि, इन चीजों का इस्तेमाल करना छोड़ देना चाहिए, पर अगर इन चीजों का इस्तेमाल सिर्फ एक उपयोगी वस्तु के रूप में किया जाए तो यह बेहतर होगा।


 The life threatening addictions of alcohol and cigarettes.
 दारू, सिगरेट की जानलेवा आदतें...



ऐसे बहुत से लड़के और लड़कियाँ भी दारू और सिगरेट की इन जानलेवा आदतों में बंधे हुए हैं। उनके लिए दारू और सिगरेट पीने का कारण अपने सम्मान को बढ़ाते रहना और उस सम्मान को अपने दोस्तों में बरक़रार रखना है।

पर इनमें से कुछ लोग हैं जिन्हें सच में इन आदतों से हमेशा के लिए छुटकारा पाना है, कुछ लोगों को यह ज्ञान ही नहीं हैं कि, उन्हें इन आदतों की लत लगी हुई है और कुछ ऐसे भी महामानव हैं जिन्हें सब पता होने के बावजूद भी “जान जाए, पर दारू और सिगरेट ना जाए।”

जिन विद्यार्थियों को इस लत से छुटकारा पाना है उन विद्यार्थियों ने इसके जानलेवा परिणामों का ज्ञान लेकर अपनी आदतों से बाहर आने में पूरा जोर लगाना चाहिए क्योंकि एक बार अगर आप इन आदतों से छुटकारा पाने में सफल हो गए तो फिर सही माइने से आप सुखी और स्वस्थ रहेंगे और धीरे-धीरे आपका पढ़ाई में भी पूरी तरह मन लगेगा और हम लोग जिन्हें इनकी आदत नहीं लगी है, हमें इन विद्यार्थियों को उन आदतों से बाहर निकलने में उनका मनोबल बढ़ाते रहना होगा और उनकी मदद करनी होगी क्योंकि वे विद्यार्थी एक बार इन आदतों से बाहर निकलने में सफल हो गए तो वे हमेशा आपके शुक्रगुजार रहेंगे और आगे चलकर शायद वे आपकी कठिनाइयों में आपकी मदद कर दें।



पढ़ाई करने के पीछे उनके पास एक बहुत बड़ी वजह न होना।

The absence of a core big reason to study.


किसी भी काम को करने के लिए उसके पीछे एक वजह छुपी होती है। पढ़ाई करने के मामले में भी कुछ वैसा ही है। बहुत से विद्यार्थियों को यह नहीं पता है कि, वे पढाई क्यों कर रहें हैं? उस पढ़ाई करने के पीछे उनके पास कोई ठोस गहरी वजह मौजूद नहीं हैं। विद्यार्थियों को इस विषय पर पूरी तरह चिंतन करना चाहिए और पढ़ाई करने की उस ठोस वजह को खोजना चाहिए। ऐसा करना इसलिए महत्वपूर्ण हैं क्योंकि एक बार आपने उस वजह को खोज लिया तो फिर आपको पढ़ाई करने की जरूरत नहीं होगी बजाय आपकी पढ़ाई पूरे दिलों-दिमाग से होती रहेगी।


 Constantly remembering some memories that happened in the past.भूतकाल में हुई घटनाओंओ को ही बार-बार याद करते रहना।



कुछ विद्यार्थियों के लिए यह एक बहुत ही गहरी और चिंताजनक समस्या होती है। उनकी जिंदगी में कुछ ऐसी घटनाएँ हुई रहती हैं जिनसे लड़ने में ही उनके दिमाग की बहुत सी उर्जा खर्च हो जाती है। किसी करीबी व्यक्ति का निधन होना, उनके boyfriend/girlfriend के साथ break-up होने के बाद उनकी यादों में खोए रहना, व्यक्तिगत रूप से उनके साथ कोई गम्भीर हादसा होना जो अभी भी उन्हें याद  आते रहते हैं, ऐसी बहुत सी घटनाएँ हो सकती हैं।

इन विद्यार्थियों को यह बात समझनी चाहिए कि, भूतकाल में घटी उन घटनाओं को इस वर्तमान में याद करने से आपकी ही उर्जा और समय व्यर्थ जा रहा है। भूतकाल यह मर चुका है और उस भूतकाल के बजाय आपको वर्तमान में पूरी तरह खुश रहने का पूरा हक है और आपके पढ़ाई को दिल से करने का एक बेहतरीन अवसर भी है। इस बार अगर आप पढ़ाई कर गए तो शायद आपका भविष्य इस वर्तमान और भूतकाल से कई गुना शानदार एवं सफल हो सकता है।

This post has been written by Mahesh Bhagat (Bhannaat.com)


लेख अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ भन्नाट.कॉम पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें
धन्यवाद !!



Previous
Next Post »