Dangerous Fact About RO Filtered Water In Hindi

Dangerous Fact About RO Filtered Water In Hindi

RO पानी के बारे में भयानक सत्य




कभी आपने सोचा है जो पानी आप पीते हैं उस से आप के शरीर को कोई लाभ नहीं होता। जी हाँ दोस्तों! आप जो पानी पी रहे हैं वह पीने के लिए Unfit है। आप सोच रहे होंगे कि, मैं तो RO का Filtered पानी पीता हूँ वह तो बिलकुल सही है। आप ने इसलिए RO लगवाया क्योंकि आपके पड़ोसी ने भी RO लगवाया था और पड़ोसी ने RO Plant इसलिए लगवाया क्योंकि उस ने इस का विज्ञापन TV या Newspaper में देखा होगा। Actually घर में आज RO लगवाना और बाहर Bottle का ठंडा पानी पीना आज एक Fashion बन गया है, जिस के घर में RO नहीं उसे लोग नीची निगाहों से देखना शुरु कर देते हैं। लेकिन वे इस बात को नहीं जानते कि, RO का पानी हमारे शरीर के लिए लाभकारी नहीं है। ऐसा क्यों...? Lets Find Out.


RO Test In Hindi:





आज हमारी Mentality कुछ ऐसी हो गई है कि, पानी मीठा है तो अच्छा है। Ro की Full Form Reverse Osmosis है ये किसी भी Normal पानी को Filter करता है और उस में सभी Germs मार देता है जिसे हम Filtered Water या Mineral Water कहते हैं लेकिन एक बात ध्यान देने योग्य है कि, Mineral Water वह होता है जिसमें Minerals हों यानी कि, पोषक तत्व हों। RO पानी को Filter तो जरूर करता है लेकिन वह साथ-साथ Minerals को भी निकाल देता है जिससे Body को वो जरूरी Minerals नहीं मिल पाते जो Body के लिए आवश्यक होते हैं।




पानी की Quality को TDS में मापा जाता है TDS यानी Total Dissolved Solid जिसका मतलब है कि, पानी में कितना Mineral घुला है। अगर TDS 350 है तो सबसे अच्छा है, 250 से 500 तक TDS भी हीक है, 1000 TDS भी पीने के लिए Safe है। बहुत सी RO Companies ने माहौल बिलकुल ख़राब कर दिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (W.H.O.) ने चेतावनी Publish की है कि, आज 90% लोग 100 से कम टी.डी.एस. वाला पानी पी रहे हैं। लोगों को ये पानी इसलिए अच्छा लगता है क्योंकि 65-75 TDS कम पानी सबसे मीठा होता है। अगर पानी 100 टी.डी.एस. से कम का हुआ तो दिल की बिमारियों से लेकर बालों का झड़ना भी हो सकता है।


RO से छन कर 90% तक Minerals निकल जाते हैं फिर भी Bottle के पानी को Mineral Water कहा जाता है। लेकिन अब ये मामला Court तक पहुँच चुका है। Court ने रोक लगाई तो Companies ने Bottle में बंद पानी को Packaged Water लिखना शुरू कर दिया। RO से पानी छनता है तो Plastic घुल जाता है बहुत दिनों तक Bottle में बंद रहने पर भी पानी में Plastic घुल जाता है। 100 से कम TDS वाला पानी Acidic बन जाता है इसमें चीज़ें तेज़ी से घुलती हैं और पानी में Plastic घुलने के कारण कैंसर जैसी बीमारियाँ होती है।


Say No To Ro Filtered Water




सबसे पहले TDS मीटर से अपने घर के पानी का TDS Level चेक करें। अगर TDS 900 से अधिक है तो ही RO लगवाएँ। RO का Output 350 TDS सेट करें। हो सके तो घड़े का पानी पिएँ, जहाँ धुप और हवा आए वहाँ मटके को भी रखें। मटके की खासियत ये है कि, अगर TDS अधिक है तो ये Minerals निकाल देता है और यह कम है तो ये Minerals बढ़ा देता है।

How Much Water Is Needed?




दिन भर में 2.5 लीटर तक पानी पीना चाहिए कम पानी पियेंगे तो Body पानी Retain करती है, मतलब कम पियेंगे तो मोटे होंगे, खाना खाते समय बीच में पानी न पिएँ, भोजन के लगभग 30 Minutes के बाद पानी पिएँ, कम पानी पीने से Kidney, Stone (पथरी) कब्ज़ जैसी Problems हो सकती हैं, तो दिन भर में 10 से 12 गिलास पानी पिएँ अगर आप Athletic Activities करते हैं तो आप 3.5 लीटर तक पानी पी सकते हैं, थोड़ा-थोड़ा न पिएँ 2-2 गिलास कर के पिएँ और ऐसा 5 बार करने से आप सही मात्रा में पाने पीने लगेंगे।

लेख अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें...

Previous
Next Post »