Information Of The Sun In Hindi

Information Of The Sun In Hindi...


Actually sun is the head of our solar system. सूर्य solar system के मध्य में है। यह एक गर्म गैसों का गोला है। इसके internal core के घूमने के कारण इसमें energy create होती है। इसका व्यास 1.39 km है जो कि, पृथ्वी से 109 गुना अधिक और भार में 3,30,000 गुना अधिक है। सूर्य का लगभग 73% hydrogen, 25% helium और कुछ छोटे-छोटे amount में oxygen, carbon, neon और iron है। यह earth पर गर्मी और energy का main source है।


Sun एक G-Type Star है मतलब कि, न तो यह बहुत गर्म है न ही बहुत ठंडा है। इसकी light सफ़ेद रंग की अधिक है और पीले रंग की कम है इसका मतलब है कि, यह solar system में सही जगह पर है। यह Goldilock planets पर जीवन के लिए अच्छा एक अच्छा संकेत है, goldilock planets वह planets होते हैं जो कि, सूर्य से न तो अधिक दूर होते हैं न ही अधिक दूर क्योंकि सूर्य न तो बहुत अधिक बड़ा है न ही बहुत अधिक छोटा।



● Core of the sun explained in hindi:

सूर्य का core उसके radius का 20%-25% हिस्से को cover करता है।जिसकी density 15g/cm cube मतलब पानी से 150 गुना तक अधिक घनत्व है। सूर्य के core से thermal energy निकलती है जो कि सूर्य की विभिन्न layers से गुज़रते हुए photosphere तक kinetic energy के रूप में जाती है।

● Scientific analysis of the sun in hindi

सूर्य अभी अपनी उम्र के मध्य पड़ाव पर है यह solar system के 98.86% mass से बना है। यह milky way के 85% तारों से अधिक चमकदार है। यह पृथ्वी में से दिखाई देने वाली चमकदार वस्तु है, यह इसके बाद सबसे पास वाले तारे sirus से 13 billion गुना अधिक चमकदार है।
Earth के centre से सूर्य की दूरी 1 astronomical unit (15,00,00,000 km) है लेकिन जनवरी में perihelion और जुलाई में aphelion में इसकी दूरी घटती बढ़ती है। सूर्य की किरण को पृथ्वी तक आने में लगभग 8 मिनट 20 सेकंड लगते हैं। पृथ्वी पर जीवन का मुख्य माध्यम सूर्य ही है इसकी ही गर्मी से photosynthesis की reaction होती है तथा मौसम में परिवर्तन होता है।



जहां सूर्य की रोशनी कम होती है उस जगह को photo sphere कहते हैं। यह अपनी axis के बजाय अपनी equator पर अधिक तेजी से घूमता है। इसका equator पर rotational period 25.6 दिनों का है जबकि poles पर 33.5 days का है।


● सूर्य का जन्म कैसे हुआ:

सूर्य का जन्म molicular clouds के आपस में टकराने के कारण आज से लगभग 4.6 million वर्ष पहले हुआ था। अधिकतर मलबा सूर्य के केंद्र में जमा हो गया और बाकि का उसकी बाहरी सतह पर जमा हो गया। धीरे-धीरे केंद्र में मलबा nuclear fusion की क्रिया के कारण जमा हो गया एवं घना और गर्म होता गया। nuclear fusion की क्रिया से सभी तारों को गुज़रना पड़ता है इसी परिक्रिया के कारण हमारे सितारे का जन्म हुआ जिसका नाम सूर्य है। इसके core में 600 million ton hydrogen और helium आपस में टकरातें है और लाखों टन energy release होती है इस energy को core से surface तक आने में 10,000 से 1,70,000 तक लग जाते हैं।


● सूर्य का अंत कैसे होगा:

सूर्य का जन्म आज से 5 million साल पहले हुआ था। लगभग 5 करोड़ साल तक यह energy देता रहेगा, इसके बाद इसमें बहुत बड़ा धमाका होगा इस परिक्रिया को supernova कहा जाता है। सूर्य का रंग लाल एवं size बड़ा हो जाएगा और यह mercury, Venus और earth के orbit को अपने घेरे में ले लेगा, पृथ्वी पर कोई जीवन नहीं रहेगा। फिर सूर्य की power समाप्त हो जाएगी जिस stage को white dwarf कहा जाता है। इस पूरे process में लाखों करोड़ों साल का समय लग जाएगा।

● Facts about the sun in Hindi



● Magnetic energy released by the sun’s atmosphere is called suddenly released is called solar flare.

सूर्य से हर 11 वर्षों में चुम्बकीय चमकदार ऊर्जा निकलती है जिसे सौर कलंक कहते हैं।


● The energy released during a sunflair is equivalent to explosion of millions of hydrogen bombs.

सौर कलंक से निकली ऊर्जा की शक्ति लाखों मेगाटन बमों के बराबर होती है।


● There are electric currents inside of it that generate a magnetic field which spreads throughout the solar system.

सूर्य के अंदर एक प्रकार का electric current है जो magnetic field बनाता है और ऊर्जा को पूरे सौर मंडल में फैलता है।



● The sun produces energy that supports all life on earth through a process known as photosynthesis.

सूर्य ऊर्जा पैदा करता है जो पृथ्वी पर सभी जीवन को प्रकाश संश्लेषण के रूप में जाना जाता है।


● The interior study of the sun Is called helioseismology.

सूर्य का आंतरिक अध्ययन helioseismology कहलाता है।


● The study of the sun is observed by SOHO (Solar and Heliospheric Observatory)

सूर्य का अध्ययन SAHO द्वारा किया गया है।


● Sun is 30,000 light years away from the center of The Milky Way.

यह दुग्धमेखला के केंद्र से 30000 प्रकाशवर्ष दूर है।


● It takes 8 min 20 seconds sun light to reach on the earth.

सूर्य की रौशनी को पृथ्वी तक पहुँचने में 8 मिनट 20 सेकंड लगते हैं।


● Its energy is produced from the fusion of hydrogen into helium.

सूर्य की ऊर्जा हाइड्रोजन एवं हीलियम के संलयन से होती है।


● Its temperature is approximately between 5500 and 6000 degrees Celsius.

सूर्य का तापमान 5,500 से 6,000 डिग्री सेल्शियस तक है।



● It releases three different energy; infrared radiation, visible light, and ultraviolet light.

यह 3 तरह की ऊर्जा निकलता है: infrared, radiation, visible light, and ultraviolet light.


● The ozone layer absorbs most of the sun’s harmful ultraviolet rays which cause sun burns.

ओजोन परत सूर्य की पराबैंगनी किरणों को रोक लेती हैं जिससे जलन होती है।


● The suns UV rays also have antiseptic properties.

सूर्य की पराबैंगनी किरणों में antiseptic properties होती हैं।


● The process by which energy moves from the sun to the earth is known as radiation.

वह प्रक्रिया जिससे सूर्य से ऊर्जा पृथ्वी तक आती है उसे radiation कहते हैं।


● The heat and energy released from the core of the sun take a million years to reach on the top.

सूर्य की कोर से निकलने वाली ऊष्मा और ऊर्जा को शीर्ष पर पहुँचने में एक लाख वर्ष लगते हैं।



● Copernicus told that The sun is at the center of the solar system and all planets revolves around it.

सूर्य सौर मंडल के मध्य में है और सभी ग्रह इसकी परिक्रिमा करते हैं यह बताने वाला पहला वैज्ञानिक कॉपरनिकस था।


● If the sun were not there, the Earth would travel in a straight line.

अगर सूर्य न होता तो पृथ्वी एक सीधी रेखा में आगे बढ़ती जाती।


● Its gravity is 28 times stronger than earth’s gravity.

सूर्य का गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी से 28 गुना शक्तिशाली है।


● The bubble between the solar system and sun is called the heliosphere.

सूर्य और सौर मंडल में घूमने वाले गुब्बारों को heliosphere कहा जाता है।


Tags: Suraj ka ant kaise hoga, kisi taare ka janm kaise hota hai, surya ka janm kaise hua, information about sun in hindi, scientific knowledge about sun in hindi, surya ki energy ka rahasya kya hai, what is nuclear fusion in hindi, what us nuclear fission in hindi, galaxy me surya ka kya sthan hai, short note about sun in hindi, short information about sun in hindi, information of sun in hindi language, morning sun information in hindi, fact about sun in hindi, writer few lines about sun in hindi


Article अच्छा लगने पर Share करें और अपनी प्रतिक्रिया Comment के रूप में अवश्य दें, जिससे हम और भी अच्छे लेख आप तक ला सकें। यदि आपके पास भी कोई लेख, कहानी, किस्सा हो तो आप हमें भेज सकते हैं, पसंद आने पर लेख को आपके नाम के साथ Bhannaat.com पर पोस्ट किया जाएगा, अपने सुझाव आप Wordparking@Gmail.Com पर भेजें, साथ ही Twitter पर फॉलो करें।





धन्यवाद !!!

Previous
Next Post »